मृत पत्नी प्रेमी संग उडा रही थी गुलछर्रे, पति पहुँचा जेल!

जुर्म

दिमाग को हिला देने वाली यह घटना उत्तर प्रदेश से आई है जहां तीन शख्स जो पिछले 9 महीनों से एक ऐसे जुर्म की सजा काट रहें थे जो उन्होंने कभी किया ही नहीं था। दरअसल मामला उत्तर प्रदेश के मथुरा का है, जहां सोनू नाम के व्यक्ति को और उसके दो दोस्तों भगवान सिंह और अरविन्द को सोनू की पत्नी के कत्ल के इल्जाम में सजा दी गई थी। 9 महीने की सजा काटने के बाद सोनू जब जमानत पर बाहर निकला तो उसने अपने एक अन्य दोस्त गोपाल के साथ मिलकर गहन तलाश कर अपनी बीवी को ज़िंदा पकड़वाया है।

Jaipur में Shape Of Life में दिखा चित्रकला का जादू

​​​​​​​

बताया जा रहा है कि, सूरज प्रसाद की 25 वर्षीय शादीशुदा बेटी 5 सितंबर 2015 को अचानक ही लापता हो गई थी। आरती के पिता सूरज ने अपने दामाद सोनू और उसके दो दोस्तों भगवान सिंह और अरविन्द पर अपनी बेटी की हत्या का इल्जाम लगाया था और पुलिस ने कोर्ट के आदेश के बाद दामाद सोनू और उसके दोस्त गोपाल को गिरफ्तार कर जेल भी दिया था। 9 महीने तक जेल में सजा काटने के बाद जमानत पर बाहर आए पति सोनू और उसके दोस्त गोपाल ने आरती की तलाश शुरू की, तलाश के दरम्यान दोनों को राजस्थान के दौसा जिले के मेहंदीपुर के विशाला गाँव में आरती के अपने प्रेमी के साथ होने की खबर मिली। पीड़ित सोनू और गोपाल ने पुलिस को इस बात की जानकारी दी। जब पुलिस ने आरती के ठिकाने पर दस्तक दी तो उसे जिंदा पाकर खुद पुलिस भी हैरान थी। फिलहाल पुलिस आरती से पूछताछ कर रही है, उसका बयान लिया जा रहा है और जल्द ही उसे न्यायालय में पेश भी किया जाएगा।  इस संबंध में आरती के पिता सूरज से पूछताछ की जा रही है कि, जिस शव को उन्होंने आरती का बताया था आखिर वो शव था किसका?

कमेंट करें